इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

प्रचार खिडकी

गुरुवार, 11 फ़रवरी 2010

अंगना मोरे बुलबुल गाए ......



अंगना मोरे बुलबुल गाए,
फ़िर मन मोरा काहे न इतराए॥





तोहर रूप ये देख सलोना,
गमकत घर का कोना कोना ॥


तन चंचल , मन चंचल, अंखियन से मुस्कावत है,
तोहरे दरस की अद्भुत तृप्ति , जाने मन क्या पावत है ॥


आज आप हमारी बिटिया बुलबुल से मिलिए , इसकी चंचलता के लिए सिर्फ़ इतना ही कहना काफ़ी होगा कि ये हमारे साथ ही हमारे कंप्यूटर पर बैठी रहती है , और जरा सा नज़र इधर उधर हुई कि बस की बोर्ड पर ठक ठक और जो ज्यादा मन किया तो एक आध की ..कभी आर , कभी एम , कभी एच को उखाड के मुट्ठी में भर के चल देती है अपनी खिलौने की टोकरी में भरने ॥

14 टिप्‍पणियां:

  1. Rachana aur bitiya dono hi bahut pyare hai....Bitiya Bul Bul ko Dher sara pyar!!
    http://kavyamanjusha.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  2. अभी तो खामोश है बुलबुल
    फिर नटखट बनेगी बुलबुल
    बाबुल के अन्गना मे खेले
    बाबुल की बाहो मे झूले
    जैसे जैसे बडी होगी बुलबुल
    बनेगी थोडी सी चुलबुल
    बाबुल का ध्यान रखे बुलबुल

    उत्तर देंहटाएं
  3. आज बिटिया रानी के प्यार में कविता लिख रहें है
    बहुत सुन्दर, बिटिया रानी को हमारी तरफ़ से ढेर सारा प्यार

    उत्तर देंहटाएं
  4. बड़ी प्यारी है बुलबुल बिटिया रानी..बहुते आशीष..

    उत्तर देंहटाएं
  5. अजय जी, अभी 28 फरवरी को मेरी दोहिती की प्रथम वर्षगाँठ है उसके लिए एक गीत लिखा है उसका मुखड़ा आपकी बुलबुल के लिए भेज रही हूँ -

    खुशबू जैसे मन में बस गयी
    जब तू आयी थी।
    होठों पर मुस्‍कान खिल गयी
    जीवन दे गयी थी।

    उत्तर देंहटाएं
  6. bulbul to aise hi chahkegi aur aise hi mahkegi.....bahut hi sundar rachna aur bitiya ko pyar.

    उत्तर देंहटाएं
  7. बधाई हो

    बुलबुल बिटिया का ब्‍लॉग

    तो बनाई दो।

    उत्तर देंहटाएं
  8. बुलबुल बिटिया से तो पहले भी मिल ही चुकी हूं .. अपने खिलौनो की टोकरी में की को डालने की शैतानी सबसे अच्‍छी लगी .. ये आराम से उखड जाता है क्‍या .. मैने तों सफाई के लिए भी कभी नहीं हटाया आजतक !!

    उत्तर देंहटाएं
  9. प्यारी बिटिया को
    थोड़ा सा प्यार हमारा भी

    उत्तर देंहटाएं
  10. bulbul to aise hi chahkegi aur aise hi mahkegi.....bahut hi sundar rachna aur bitiya ko pyar

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत सुन्दर है बुलबुल। बहुत बहुत आशीर्वाद है इसे कम्प्यूटर पर क्यों न बैठे आखिर पापा के इतने ब्लाग अकेले थोदे ही चलेंगे। बुलबुल साथ देगी आपका। शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  12. प्यारी बुलबुल न्यारी बुलबुल
    स्नेहाशीष !

    उत्तर देंहटाएं
  13. इस के यह क्षण कैमरे में लगातार कैद करते रहना , पूरे जीवन की यादों में यह समय सबसे प्यारा लगेगा ! शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं

टोकरी में जो भी होता है...उसे उडेलता रहता हूँ..मगर उसे यहाँ उडेलने के बाद उम्मीद रहती है कि....आपकी अनमोल टिप्पणियों से उसे भर ही लूँगा...मेरी उम्मीद ठीक है न.....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers