इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

प्रचार खिडकी

रविवार, 16 मई 2010

हिंदी ब्लोगर के रूप में अविनाश वाचस्पति जी ने क्या कहा ...............

राष्ट्रभाषा हिंदी की दशा और दिशा पर पत्रिका " संडे इंडियन " के ताजा अंक में अविनाश वाचस्पति जी ने हिंदी ब्लोग्गिंग और ब्लोग्गर्स का प्रतिनिधित्व करते हुए अंतर्जाल पर हिंदी के मजबूत होते कदम और उसमें हिंदी ब्लोग्गिंग के योगदान और महत्व की चर्चा की सबसे बडी बात ये रही है कि इसमें उन्होंने अपना परिचय सिर्फ़ एक हिंदी ब्लोग्गर के रूप में देते हुए हिंदी ब्लोग्गिंग की सार्थक बातों को लाखों पाठकों तक पहुंचाया इस तरह के प्रयास नि: संदेश प्रशंसनीय और अनुकरणीय है पूरी पत्रिका में बहुत सारे पन्नों में छपी हुई हिंदी राष्ट्रभाषा पर जारी एक बहस में भाग लेते हुए अविनाश भाई ने क्या कहा ये आप नीचे की छवि में पढ सकते हैं सभी ब्लोग्गर्स से यही अपेक्षा है कि इससे सीख लेते हुए ऐसे ही प्रयासों को बढावा देंगे



छवि को पढने के लिए उस पर क्लिक करें

15 टिप्‍पणियां:

  1. हिन्दी प्रसार में ब्लागीरी का योगदान बहुत अधिक है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. हिंदी और हिंदी में ब्लोगिंग की सशक्तता ही इस देश के लोकतंत्र को मजबूती प्रदान कर सकता है / अविनाश जी की इस सार्थक प्रयास और अभिव्यक्ति के लिए उनको धन्यवाद और आपने उनके सार्थक प्रयास को हम सब तक पहुंचाकर जो सराहनीय कार्य किया है उसके लिए आपका भी बहुत-बहुत धन्यवाद /

    उत्तर देंहटाएं
  3. अविनाश जी की जय हो!
    आप सौभाग्यशाली हैं!

    उत्तर देंहटाएं
  4. अविनाश जी कि तो बात ही कुछ और है
    शुभकामनाएं

    भगवान परशुराम जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

    उत्तर देंहटाएं
  5. कल ही संडे इंडियन खरीदी थी....खोली तो अंदर अविनाश जी भी दिख गए....पढ़ा तो बड़ा मज़ा आया कि अब तक जो बातें हम लोग फोन और चैट पर कर रहे थे...एक पत्रिका के माध्यम से तमाम लोगों तक पहुंचे....
    दरअसल किसी भी भाषा को पनपने...फलने फूलने....और आमजन में पैठने के लिए आज़ादी चाहिए होती है....और ब्लॉगिंग वही आज़ादी दे रही है....हिंदी को....अविनाश जी के अलावा बालेंदु दधीचि जी ने भी पत्रिका में मार्के की बात कही है...उसे भी पढ़ें....
    मेरा सौभाग्य कि मेरी दोनो ही लोगों से इस विषय पर फोन पर चर्चा भी हुई...कल बालेंदु जी से और आज अविनाश जी से....

    उत्तर देंहटाएं
  6. अविनाश जी के लेख से सहमत है जी, बहुत अच्छा लिखा

    उत्तर देंहटाएं
  7. और कोई इस बात को माने या न माने पर मैं कहती हूँ कि हिन्दी ब्लागिंग के इतिहास में अविनाश भैया पत्थर की लकीर बन चुके हैं और अपना नाम स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज करवा चुके हैं

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस जानकारी के लिए आभार....अविनाश जी को बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  9. बढ़िया लगा अविनाश भाई को पढ़ कर..क्रांति का बिगुल तो बज चुका है. आपका आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  10. महिलाओं में श्रेष्ठ ब्लागर कौन- जीतिए 21 हजार के इनाम
    पोस्ट लिखने वाले को भी मिलेगी 11 हजार की नगद राशि
    आप सबने श्रेष्ठ महिला ब्लागर कौन है, जैसे विषय को लेकर गंभीरता दिखाई है. उसका शुक्रिया. आप सबको जलजला की तरफ से एक फिर आदाब. नमस्कार.
    मैं अपने बारे में बता दूं कि मैं कुमार जलजला के नाम से लिखता-पढ़ता हूं. खुदा की इनायत है कि शायरी का शौक है. यह प्रतियोगिता इसलिए नहीं रखी जा रही है कि किसी की अवमानना हो. इसका मुख्य लक्ष्य ही यही है कि किसी भी श्रेष्ठ ब्लागर का चयन उसकी रचना के आधार पर ही हो. पुऱूषों की कैटेगिरी में यह चयन हो चुका है. आप सबने मिलकर समीरलाल समीर को श्रेष्ठ पुरूष ब्लागर घोषित कर दिया है. अब महिला ब्लागरों की बारी है. यदि आपको यह प्रतियोगिता ठीक नहीं लगती है तो किसी भी क्षण इसे बंद किया जा सकता है. और यदि आपमें से कुछ लोग इसमें रूचि दिखाते हैं तो यह प्रतियोगिता प्रारंभ रहेगी.
    सुश्री शैल मंजूषा अदा जी ने इस प्रतियोगिता को लेकर एक पोस्ट लगाई है. उन्होंने कुछ नाम भी सुझाए हैं। वयोवृद्ध अवस्था की वजह से उन्होंने अपने आपको प्रतियोगिता से दूर रखना भी चाहा है. उनके आग्रह को मानते हुए सभी नाम शामिल कर लिए हैं। जो नाम शामिल किए गए हैं उनकी सूची नीचे दी गई है.
    आपको सिर्फ इतना करना है कि अपने-अपने ब्लाग पर निम्नलिखित महिला ब्लागरों किसी एक पोस्ट पर लगभग ढाई सौ शब्दों में अपने विचार प्रकट करने हैं। रचना के गुण क्या है। रचना क्यों अच्छी लगी और उसकी शैली-कसावट कैसी है जैसा उल्लेख करें तो सोने में सुहागा.
    नियम व शर्ते-
    1 प्रतियोगिता में किसी भी महिला ब्लागर की कविता-कहानी, लेख, गीत, गजल पर संक्षिप्त विचार प्रकट किए जा सकते हैं
    2- कोई भी विचार किसी की अवमानना के नजरिए से लिखा जाएगा तो उसे प्रतियोगिता में शामिल नहीं किया जाएगा
    3- प्रतियोगिता में पुरूष एवं महिला ब्लागर सामान रूप से हिस्सा ले सकते हैं
    4-किस महिला ब्लागर ने श्रेष्ठ लेखन किया है इसका आंकलन करने के लिए ब्लागरों की एक कमेटी का गठन किया जा चुका है. नियमों व शर्तों के कारण नाम फिलहाल गोपनीय रखा गया है.
    5-जिस ब्लागर पर अच्छी पोस्ट लिखी जाएगी, पोस्ट लिखने वाले को 11 हजार रूपए का नगद इनाम दिया जाएगा
    6-निर्णायकों की राय व पोस्ट लेखकों की राय को महत्व देने के बाद श्रेष्ठ महिला ब्लागर को 21 हजार का नगद इनाम व शाल श्रीफल दिया जाएगा.
    7-निर्णायकों का निर्णय अंतिम होगा.
    8-किसी भी विवाद की दशा में न्याय क्षेत्र कानपुर होगा.
    9- सर्वश्रेष्ठ महिला ब्लागर एवं पोस्ट लेखक को आयोजित समारोह में भाग लेने के लिए आने-जाने का मार्ग व्यय भी दिया जाएगा.
    10-पोस्ट लेखकों को अपनी पोस्ट के ऊपर- मेरी नजर में सर्वश्रेष्ठ ब्लागर अनिवार्य रूप से लिखना होगा
    ब्लागरों की सुविधा के लिए जिन महिला ब्लागरों का नाम शामिल किया गया है उनके नाम इस प्रकार है-
    1-फिरदौस 2- रचना 3-वंदना 4-संगीता पुरी 5-अल्पना वर्मा- 6 –सुजाता चोखेर 7- पूर्णिमा बर्मन 8-कविता वाचक्वनी 9-रशिम प्रभा 10- घुघूती बासूती 11-कंचनबाला 12-शेफाली पांडेय 13- रंजना भाटिया 14 श्रद्धा जैन 15- रंजना 16- लावण्यम 17- पारूल 18- निर्मला कपिला 19 शोभना चौरे 20- सीमा गुप्ता 21-वाणी गीत 21- संगीता स्वरूप 22-शिखाजी 23 –रशिम रविजा 24- पारूल पुखराज 25- अर्चना 26- डिम्पल मल्होत्रा, 27-अजीत गुप्ता 28-श्रीमती कुमार.
    तो फिर देर किस बात की. प्रतियोगिता में हिस्सेदारी दर्ज कीजिए और बता दीजिए नारी किसी से कम नहीं है। प्रतियोगिता में भाग लेने की अंतिम तारीख 30 मई तय की गई है.
    और हां निर्णायकों की घोषणा आयोजन के एक दिन पहले कर दी जाएगी.
    इसी दिन कुमार जलजला का नया ब्लाग भी प्रकट होगा. भाले की नोंक पर.
    आप सबको शुभकामनाएं.
    आशा है आप सब विषय को सकारात्मक रूप देते हुए अपनी ऊर्जा सही दिशा में लगाएंगे.
    सबका हमदर्द
    कुमार जलजला

    उत्तर देंहटाएं
  11. अविनाश जी तक हमारी शुभकामना पहुँचे...हिन्दी की बिन्दी और आगे बढ़े यही कामना हैं, ब्लागर बिना हिन्दी सिर्फ सिलेबस और साहित्यकारो या घर पर पड़ी बोर होती औरतों तक ही सीमित थी ..

    उत्तर देंहटाएं
  12. हिंदी और हिंदी में ब्लोगिंग की सशक्तता ही इस देश के लोकतंत्र को मजबूती प्रदान कर सकता है अविनाश जी की इस सार्थक प्रयास और अभिव्यक्ति के लिए उनको धन्यवाद और आपने उनके सार्थक प्रयास को हम सब तक पहुंचाकर जो सराहनीय कार्य किया है उसके लिए आपका भी बहुत-बहुत धन्यवाद

    sehmat hun.

    उत्तर देंहटाएं
  13. एकदम स्टीक..अविनाश जी, और अजय झा का सदैव आभारी हूँ।

    उत्तर देंहटाएं

टोकरी में जो भी होता है...उसे उडेलता रहता हूँ..मगर उसे यहाँ उडेलने के बाद उम्मीद रहती है कि....आपकी अनमोल टिप्पणियों से उसे भर ही लूँगा...मेरी उम्मीद ठीक है न.....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers