इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

प्रचार खिडकी

शुक्रवार, 5 मार्च 2010

सर्वाधिक अमीरों की सूची में एक ब्लोग्गर भी ....यार व्यंग्य न समझें इसे ..

वाह, भाई, क्या धाँसू ख़बर आए आज तो, आखिरकार मेरा सपना सच हो ही गया, हाल ही में दुनिया के सर्वाधिक अमीरों की सूची जारी करने वाली पत्रिका , फोर्ब्स, ने जो सूची जारी की है, उसमें एक ब्लॉगर का भी नाम है। पहले तो एक ये बात मेरी समझ में नहीं आती कि, ये इन पत्रिका वालों को आख़िर दूसरे की कमाई के बारे में पता कैसे चल जाता है, और वो भी बिल्कुल शत प्रतिशत, कमाल है मुझे आज तक अपना हिसाब किताब ठीक से समझ में नहीं आता। इस सूची में दुनिया भर के, एशिया के , भारत के , इस प्रकार से नाम दिए गए हैं, पता चला कि इसमें चौथे नंबर पर एयरटेल वाले भाईसाहब मित्तल बाबु का नाम भी है, मुझे खुशी हुए, कि धोखे से ही सही, कभी किसी डाऊनलोड के नाम पर , तो कभी रिंग टन के नाम पर हर महीने जो अंट शंट, पैसे वे काटते हैं उसका फल कहीं तो जा कर मिलता है, वरना क्या फायदा कि आदमी इतनी धोखाधड़ी भी करे और हाथ भी कुछ न लगे, खैर में तो ब्लॉगर की बात कर रहा था।

विश्वस्त सूत्रों , ( प्लीज सूत्रों के बारे में कभी ना पूछें ), से पता चला है कि , कुल सत्ताईस लाख पेज की इस किताब के आखिरी पन्ने पर और ९९७६९८४३२७६५६८०९८७७६८०६४४५७६८९७५९ वें स्थान पर हमारा अपने एक हिन्दी ब्लॉगर है । हाँ , हाँ मैं जानता हूँ कि आप सोच में पड़ गए होंगे कि आख़िर कौन है वो टैलेंटेड ब्लॉगर जिसने इतना प्रतिष्ठित स्थान हासिल किया, अब मैं अपने मुंह से अपना नाम कैसे लूँ समझ नहीं पा रहा हूँ, लेकिन लेना भी जरूरी है, वरना आप हमारे वरिष्ठ भाइयों के नाम से कन्फुज हो जायेंगे तो। मुझे ये तो नहीं पता कि इस सूची में नाम आने के बाद किसी के ऊपर क्या फर्क पड़ता है, ये भी नहीं कि क्हीं इसके बाद मुझे सब्जी वाला सब कुछ सोने के भाव न देना शुरू कर दे, मगर फक्र तो होता ही है न। हाँ , हाँ मुझे मालूम है कि इसके बाद कुछ लोगों को, अनाम और बे नाम लोगों को ये शिकायत हो रही होगी कि हुंह ये क्या बात हुई आख़िरी पेज पे इतने बाद नंबर आया है , उसे लेकर हाय तोबा क्यूँ मचाया जा रहा है, तो उन लोगों को मैं बता दूँ कि जब भी कोई व्यक्ति किसी भी किताब को उठाता है तो उसका पहला और आख़िरी पन्ना जरूज ही पढता है , तो जिसे, बिल गेट्स, का नाम पता होगा वो झा जी को जरूर ही जानता होगा, क्यों ठीक है न, एक और जरूरी बात ये कि इन कमबख्त बड़े लोगों, अरे जिनका नाम ऊपर है उन्हें तो हर वक्त अपने बोलीवुड के खानों की तरह अपने नंबर बढ़ने और काटने की चिंता लगी रहती है, एक हम ही हैं जिसे पता है कि चाहे जितनी तबदीली आ जाए अपना स्थान तो सत्ताईस लाखवें पेज पर फिक्स है ही।

तो बधाई हो मुझे भी और आप सबको भी आख़िर आप सबके बीच रह कर ही तो ये नामुमकिन काम मैं कर पाया वरना क्या मैं भी चाँद पर सायकल लेकर नहीं चला जाता।

18 टिप्‍पणियां:

  1. shaayad ek aadh panna aur ho jahaan apane hindi blogaro ka ek aadh naam aur ho

    उत्तर देंहटाएं
  2. आखिरी पन्‍ने का विज्ञापन तो बहुत मंहगा होता है। आपको बधाई इस पन्‍ने पर आने के लिए।

    उत्तर देंहटाएं
  3. झा जी,
    आपको मुगालता हो गया है...ये किताब अंग्रेज़ी में नहीं ऊर्दू में है...इसका आखिरी पन्ना सबसे पहले पढ़ा जाता है...इस लिहाज़ से आपका नंबर एक और बिल गेट्स, वारेन बुफे जैसे सब लल्लू-पंजू धन-कुबेर सबसे आखिर में...

    क्यों दिल बहलाने को गालिब ख्याल अच्छा है न...

    जय हिंद...

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस नायाब उपलब्धी पर आपको बहुत बहुत बधाई!!
    बस बहुत जल्द ही "भारत रत्न/पद्मश्री/पद्मविभूषण" इत्यादि कोई सम्मान मिलना भी तय समझिए :-)

    उत्तर देंहटाएं
  5. वाह बहुत बहुत बधाई। तब तो जरूर हम सब से गरीबों की सूची मे होंगे

    उत्तर देंहटाएं
  6. धन्य है आप जो आम आदमी की सूची से ऊपर उठ गये ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. शीर्षक को बदल कर हिन्‍दी ब्‍लॉगर कर दें अजय जी। अब तो भाई कहने में भी भय लगता है। आप वही अजय कुमार झा हैं न, या बदल गए। अगर आप मुझे पहचान गए हैं फिर तो जो पन्‍ने पर चाहे किसी भी अंत या आरंभ में हैं, वे कोई और ही हैं। अगर नहीं पहचाने तब मैं मान सकता हूं कि आप ही का नाम है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. लो कल्लो बात ये तो मैंने अपना रोल नंबर बताया है सुना है कि इस क्लास में आप सभी के रोल नंबर अलाट हुए हैं जी आप सबने पार्टी देने के डार से बताया नहीं है बस यही बात है जी ...पक्का पक्का ..
    अजय कुमार झा

    उत्तर देंहटाएं
  9. hum nahin manenge bhai.. abhi Forbes ke editor ko phunwa lagate hain.. rukiye tanik.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. इस नायाब उपलब्धी पर आपको बहुत बहुत बधाई!!

    उत्तर देंहटाएं
  11. हा हा
    ये भी खूब रही

    फिलहाल तो बधाई :-)

    उत्तर देंहटाएं

टोकरी में जो भी होता है...उसे उडेलता रहता हूँ..मगर उसे यहाँ उडेलने के बाद उम्मीद रहती है कि....आपकी अनमोल टिप्पणियों से उसे भर ही लूँगा...मेरी उम्मीद ठीक है न.....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers