इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

प्रचार खिडकी

बुधवार, 6 जनवरी 2010

अब कैसे पास करें औडीशन ( दैनिक ट्रिब्यून में प्रकाशित एक व्यंग्य )


अब कैसे पास करें औडीशन ( दैनिक ट्रिब्यून में प्रकाशित एक व्यंग्य )
चित्र को बडा करके पढने के लिए उस पर चटका लगाएं

9 टिप्‍पणियां:

  1. आप जटायु बनते थे...मुझे डाऊट था पहले से..हा हा!!



    बहुत बधाई.


    ...


    ’सकारात्मक सोच के साथ हिन्दी एवं हिन्दी चिट्ठाकारी के प्रचार एवं प्रसार में योगदान दें.’

    -त्रुटियों की तरफ ध्यान दिलाना जरुरी है किन्तु प्रोत्साहन उससे भी अधिक जरुरी है.

    नोबल पुरुस्कार विजेता एन्टोने फ्रान्स का कहना था कि '९०% सीख प्रोत्साहान देता है.'

    कृपया सह-चिट्ठाकारों को प्रोत्साहित करने में न हिचकिचायें.

    -सादर,
    समीर लाल ’समीर’

    उत्तर देंहटाएं
  2. मजेदार अजय जी मज़ा आ गया लगता है आपको जटाऊ के रोल बहुत मिले है...व्यंग बहुत बढ़िया लगा ..हमारी ओर से बधाई स्वीकारें

    उत्तर देंहटाएं
  3. संदर्भ : ब्‍लॉगर सम्‍मान समारोह 2009 एकदम सटीक।

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच को बयाँ नहीं करने से वाकई इंसान मर जाता है
    बहुत खूबसूरत रचना

    उत्तर देंहटाएं

टोकरी में जो भी होता है...उसे उडेलता रहता हूँ..मगर उसे यहाँ उडेलने के बाद उम्मीद रहती है कि....आपकी अनमोल टिप्पणियों से उसे भर ही लूँगा...मेरी उम्मीद ठीक है न.....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Google+ Followers